An Indian Civilizational Perspective
Browsing Category

Uncategorized

इश्क

तू ही लिख और तू ही जवाब भी दे इश्क में हमारे भरोसे ना रहना

बेकरार

तेरी बज्म में घुसेंगे इजाज़त लेकर बेकरार लाख सही, इतने बेकरार भी नहीं

Get Drishtikone Updates
in your inbox

Subscribe to Drishtikone updates and get interesting stuff and updates to your email inbox.